Manju Moge Wali Ki Mast Chudai

हेल्लो दोस्तों क्या हाल है, मैं आपका प्यारा दोस्त मोहित हूँ, आज मैं आपके लिए अपनी नई स्टोरी पेश करने जा रहा हूँ, आशा है आपको मेरी ये स्टोरी पसंद आयेगी.

मेने पहले बी दो स्टोरीस लिखी है, आशा है आपको पसंद आई होगी, ये सब स्टोरी मेरी जिंदगी से तालुकात रखती है, और मेरी जिंदगी ने कैसे करवट ली है.

मैं पंजाब बरनाला से हूँ, मेरा कद ५”११ है, मेरा रंग गोरा है, मैं डेली जिम जाता हूँ, अब थोड़ी बॉडी बी बन गई है, अब मैं कॉलबॉय के रंग मैं रंग चूका हूँ, मेरे जो पुराने कौस्ट्मर थे, रिया, काव्य, और सारिका इन तीनो से मेरी कॉल बॉय बनने की शुरबात हुई.

रिया ने सारिका ने काव्य ने मेरे को कई सारे कौस्ट्मर दिए, और मेरे को रुपये बी मिलने लगे, मेरा स्टेमिना बी अच्छा है.

एक दिन सारिका का फोन आया, उसने बोला की मेरी एक सहेली है, मंजू मैंने उसको तुम्हारे बारे मैं बताया, उसका बी मन कर रहा है, तुम्हारे साथ सेक्स करने का, मैंने उसको अपनी स्टोरी बताई तो वो बहुत गर्म हो गई है, उसकी उम्र ३८ साल है, और अभी कुवारी है, उसने मंजू को मेरा मोबइल नंबर दे दिआ है, उसका तुम्हारे पास फोन आयेगा, और मेरा रेफेरेंस देगी.

मैने कहा ओके स्वीट हार्ट, मैने कहा तुम कब आओगी मेरे पास, उसने कहा हम जल्दी मिलेगे, मेरे पति देव कुछ दिन के बाद बहार जा रहे है, फिर मैं तुम्हारी सेवा लूगी, मैंने कहा ओके, और हमने फोन काट दिआ.

कुछ टाइम के बाद मंजू का फोन आया, मैने कहा हेलो कोण, उसने कहाँ मैं मंजू बोल रही हूँ, मेरी फ्रेंड सारिका ने आपका नंबर दिआ था, मैंने कहाँ ओह मंजू जी कैसे हो, मेरे को सारिका जी का फोन आ गया था, उन्हों ने मुझे बता दिआ था, की आपका फोन आएगा.

मैंने कहाँ कैसे हो आप, उसने कहाँ मैं ठीक हूँ, और मैंने कहाँ की मैं आपकी क्या सेवा कर सकता हूँ, उसने कहाँ वही जो सारिका की अपने की थी, सारिका आपकी बहुत तारीफ कर रही थी, और मेरे को बी आप खुश कर दो, मैं आपको खुश कर दुगी, मैंने कहाँ अच्छा जी तो हम कब मिल सकते है?

उसने मुझे अपना पता दिआ वो मोगा की थी, तो मैं कहाँ की कब आउ, तो उसने कहाँ जितनी जल्दी आप आ सकते, मैंने कहाँ की मैं कल आ जाता हूँ, उसने कहाँ ओके और मैं आपकी वेट करूगी, मेरे को फोन कर दिजिएगा वेट करूगी. मैंने कहाँ ओके.

मैंने बस पकड़ी अगले दिन और मोगा चला गया, मैंने उसको फोन किया की मैं बस स्टैंड पर आपकी प्रतीक्षा कर रहा हूँ, पन्दरा मिनट तक मैं बस स्टैंड पर खड़ा रहा, फिर उसका फोन आया की कहाँ हो आप, मैंने कहाँ बस स्टैंड पर.

उसने कहाँ मैं भी वही पर हूँ, मेरे पास वरना कार है, ब्लैक कलर की और ये कार का नंबर है, उसने मुझे बताया मैंने कहाँ ओके, उसने मुझे बताया मैं वहा पर चला गया, और कार ओपन थी.

मैं उसकी गाढ़ी मैं बैठ गया, उसने मेरे साथ हाथ मिलाया, और हम चल पड़े, उसने मेरी जांघ पर हाथ रखा हुआ था, मेरा लन खड़ा हो गया, फिर उसने अपना हाथ मेरे लन पर रख लिआ, और मेरी तरफ देखने लगी, मैं उसकी तरफ देखने लगा और मुस्कराया.

१० मिंट के बाद हम घर पर पहुँच गए, उसका घर आलीशान था, हम कार से उतरे और घर मैं एंटर किए, उसने मुझे लॉबी मै सोफे पर बैठने को कहा, और मैं बैठ गया, और वो मेरी गोद मैं बैठ गई.

मैंने उससे पूछा घर पर आप अकेले रहते हो, उसने कहा मैं और मेरे माँ डैड रहते है वो २ दिन के लिऐ बहार गये है, मैंने कहा आपका घर बहुत सूंदर है, आपकी तेरा सूंदर, दोस्तों मैं मंजू के बारे मैं बताना भूल ही गया.

वो थोड़ी भरमे शरीर की थी, ब्रेस्ट साइज थर्टी सिक् था, और वैस्ट ३४ थी, बहित मस्त थी, उसकी हिघ्त ५”४ इंच थी, रंग बिलकुल दूध जैसा था, कुछ टाइम वो मेरी गोद मैं बैठी रही, और मेरा लन उसकी गांड मैं घुस रहा था, फिर उसने अपने हॉट मेरे होठो पर रख दिए, और हम दोनों समूच किस्स करने लगे.

मेरा हाथ उसकी टी शर्ट के अंदर था, और मैंने उसको अपनी बाहो मै बर लिआ, और हम किस्स करते रहे, कुछ टाइम के बाद हम अलग हुए, और वो उठी मेरे लिये पानी लेकर आई, मैंने पानी पिया और मुझ से पूछा आप क्या लो गे मैंने कहा दूध.

वो बोली अच्छा मैंने कहा वो बी आपका, फिर वो किचन मैं चली गई, उसने फ्रीज़ खोला और मेरे लिए जूस गिलास मै लिआ, और अपने लिए, मैं उसके पीछे ही रसोई मैं चला गया मैंने, देखा बहा पर चॉकलेट सृप पड़ा है, सेल्फ पर मैंने वो उठा लिआ, और वो हसने लगी क्या कर रहे हो.

मैंने कहा कुछ तो करू गा, तुम मुझे हमेशा जाद रखो गई, और मेरी गुलाम बन जाओ गी, मैंने रसोई मै उसकी टी शार्ट उतर दी, और ब्रा बी उसके बूब्स को आजाद कर दिआ, मंजू के निपल पिंक थे, और छोटे छोटे मैंने उसके ऊपर डाल कर चॉकलेट सृप चूसने लगा.

निपल बिल्कु कड़क थे, और मैं उसके बूब्स चूसने लगा, और दबने लगा, मंजू सिसकरिअ भरने लगी, फिर मैं उसको रसोई के साथ वाले बेड रूम मैं ले गया, और बेड पर लिटा दिआ, मैंने मंजू के सारे कपडे निकाल दिए,मंजू नै मेरे सारे कपडे निकाल दीए, मेरे लन हुलारे मार रहा था.

मैंने अपने लन पर चॉकलेट लगा दिया, और मंजू को चूसने को कहा, मैंने मंजू के मुँह मैं अपना लन डाल दिआ, और मंजू चूसने लगी, फिर मैंने मंजू की चूत पर चॉकलेट लगा दिआ. यह कहानी आप देसी कहानी डॉट नेट पर पढ़ रहे है!

मंजू को मेरे ऊपर आने को कहा मंजू नै अपने चूत मेरे मुँह पर टिका दी, और उसने मेरा लन अपने मुँह मै ले लिआ, और मंजू की चूत बिलकुल गीली थी, और चॉक्लेट का स्वाद बी नमकीन हो गया था.

जब मैं उसकी चूत चाट रहा था, साथ मैं उसके नमकीन पानी का टेस्ट आ रहा था, मैं उसकी चूत को चाट रहा था, वो मेरे लन को बहुत मजे से चूस रही थी, मेरे को बी उसके चूत के रस मैं मिला, चॉकलेट बहुत टेस्टी लग रहा था.

और मैं अपनी जीब पूरी उसकी चूत मैं अंदर तक लेकर जा रहा था, वो बी सिसकरिअ ले रही थी, बिलकुल सेक्स के समंदर मैं डूबी हुए थी, फिर मैंने उसकी गांड के छेद मैं बी चॉकलेट लगाने लगा, और मैं उसकी गांड को बी चाटने लगा.

मैंने फिर मंजू को सिदा लेटा दिआ, और उसकी बॉडी को पुरे चॉकलेट सृप से बर दिआ, और उसकी पूरी बॉडी पर मस्सल दिआ, फिर मैंने उसकी बॉडी तो बॉडी चॉकलेट मसाज की, मैंने अपनी बॉडी को उसकी बॉडी के साथ मसलने लगा, और मंजू के होठो को चूसने लगा.

फिर मैं अपनी जीब से उसकी पूरी बॉडी को चाटने लगा, मंजू को बहुत मजा आ रहा था, वो कहे रही थी, बेबी और मत तड़पाओ प्लस डाल दो न, अब्ब और सब्र नहीं हो रहा, और मैं उसको और तड़पा रहा था, मंजू बहुत गर्म हो गई थी.

मैं कभी उसके बूब्स पर लगे चॉकलेट को चाटता, कभी उसकी चूत के बहते पानी को जिसमे चॉकलेट मिक्स था, कुछ टाइम के बाद मैंने अपना लन इसकी चूत पर सेट कीआ, और धीरे धीरे अंदर बहार करने लगा, उसकी चूत टाइट थी, मेरे को बहुत अच्छा लग रहा था.

और फिर मेने उसकी टंगे ऊपर उठाई, और बिच मैं आ कर जोर जोर से करने लगा, और उसके होठो चूसता था, मंजू ओह ओह ओह ओह ओह ओह ओह ओह ओह ओह आह आह आह आह आ आह कर रही थी, मंजू मेरे होठो को काटने लगी.

फिर मंजू मेरे ऊपर आ गई, और उसने मेरे लन को अपनी चूत मैं सेट कीआ, और उस पर बैठ गई, मेरा लन पूरा गिला हो चूका था, और जब वो मेरी सवारी कर रही थी, तो पच पच पच की आवाज आ रही थी, पूरा कमरा ओह ओह आह की गूंझ रहा था, और पूरी बॉडी चिप चिप कर रही थी.

मंजू ने पुरे जोर के साथ मेरा लन अपने अंदर ले रही थी, इतने मै वो जड़ गई, और मेरे ऊपर ही लेट गई, फिर मैंने निचे से धीरे धीरे उसकी चूत मै अपना लन अंदर बहार करना शुरु कीआ.

१० मिंट के बाद मैंने उसको निचे लिटाया, और उसके ऊपर आ गया, और उसको बेड के कार्नर पर लिटाया, और उसकी टांगो को ऊपर उठा कर.

मैं बेड के निचे खड़ा होकर अपना लन उसकी चूत मैं सेट कीआ, और सिदा अंदर डाल दिआ, और उसके ऊपर लेट गया, और पुरे तेजी के साथ अंदर बहार करने लगा, और उसके होठो को चूसने लगा, और १५ मिंट के बाद हम दोनों साथ मै जड़ गे, और मै उसके ऊपर लेट गया.

मंजू नै अपनी बहो मैं बर लिआ, और मेरे माथे को चूमा, और बोली मोहित बहुत मजा आया, जितना सारिका ने बोला उससे कही ज्यादा मजा आया, तुम बहुत अच्छा सेक्स करते हो, मैंने कहा थैंक ये तो अभी सुरबात है, आगे आगे देखो मैं तुम्हे कितना मजा देता हूँ, और मैंने उसके होठो को चूम लिआ.

उसके बाद मैंने उसको आपको गोद मैं उठा लिया और बाथरूम मैं ले गया, बाथरूम मैं लजाकर उसे निचे उतरा और मैंने शावर चालू किआ, और शावर के निचे हो गए, जैसे ही पानी की बूंदे हमारे ऊपर पड़ी मंजू मेरे साथ चिपकगई, हमारी बॉडी पर चॉक्लेट लगा हुआ था.

धीरे धीरे मंजू उसको चाटने लगी, जो मेरी छाती पर था, मै बी गर्दन पर लगे चॉक्लेट को चूसने लगा, फिर मनज्जू मेरी बॉडी पर लगे पुरे चॉक्लेट को चाटने लगी, और निचे बैठ कर पर लन को चूसने लगी, और मैं अपने पैर की उंगली से उसकी चूत पर घिसने लगा, फिर कुछ टाइम के बाद वो खड़ी हो गई.

फिर मैं उसकी पूरी बॉडी को चूसने लगा, और उसकी चूत पर लगे चॉकलेट को चाटने लगा, अपनी जीब को अंदर बाहर करने लगा, चॉक्लेट मिक्स चूत का पानी अच्छा लग रहा था, फिर मैं उसके बूब्स मसलने लगा, मेरा लन फिर खड़ा हो गया था, मैंने फिर उसकी गांड पर तेल लगाया.

और अपने लन पर बी फिर उसकी गांड पर सेट किआ और जोर लगा कर अंदर घुसेड़ने लगा, उसको दर्द हो रहा था, गांड बहुत टाइट थी, , उसने अपनी गांड पर हाथ रख लिए कहने लगी नहीं मैंने कहा बेबी मजा आई गए.

तो फिर मैंने उसका हाथ साइड पर किआ, मैंने उसके मुँह पर हाथ रखा, और अपना लन उसकी गांड मैं आधा अंदर डाल मंजू चीख पड़ी, उसकी आँखों मैं आंसू आ गए.

फिर मैंने धीरे धीरे अंदर बहार करने लगा, और १० मिंट के बाद मैंने एक जटके मैं पूरा लन अंदर ड़ाल दिआ, वो जोर से चीख पड़ी, मैंने उसके मुँह पर जोर से हाथ रख लिआ और धीरे धीरे अंदर बहार करने लगा, कुछ टाइम कई बाद उसका दर्द काम हो गया, और मंजू को अच्छा लगने लगा.

मंजू फिर उह उह उह उह उह उह उह उह अहा अहा अहा अहा अहा कर रही थी, बाथरूम आवाज से गूंज रहा था, मंजू सातमे आसमान पर थी, और मैं जोर जोर से अंदर बहार कर रहा था, १५ मिंट कई बाद मैं उसकी गांड मैं जड़ गया, और पीछे से उसको हग कर लिआ.

फिर १० मिंट के बाद हम नाहने लगे, और नाहा दोकेर हम नंगे ही रूम मैं बहार आ गए, और तोलीअ से एक दूसरे को साफ़ किआ और, मैं बीएड पर बैठ गया मंजू मेरे लिऐ और अपने लिऐ रसोई से कुछ खाने के लिऐ लेने चले गए और मैं बीएड पर लेट कर अपनी थकबाट उतरने लग.

१० मिंट के बाद वो मेरे लिऐ और अपने लिऐ मैग्गी और कोल्ड्रिंग ले कर आई, फिर वो मेरे गोद मैं बैठ गईं फिर हम दोनों नै साथ मैं लंच लिऐ और मेरा लन फिर हुलारे मार रहा था, और उसकी गांड के छेद को टच कर रहा था.

मंजू फिर गर्म हो गए थी फिर मैंने मंजू को घोड़ी बने को कहा जब वो घोड़ी बन गई मैंने अपना लन उसकी छेद पर सेट किआ और एक जटके मैं सारा अंदर ड़ाल दिआ, हम दोनों के सर पर सेक्स सवार था.

मैं पूरा जोर लगा कर लन उसकी चूत मैं घुसेड़ रहा था, और बीएड चु चु चु चु कर रहा रहा था मंजू बी अपने चूतड़ों को और जोर से मेरे लन पर मार रही थी, और मैं अपने हाथो से उसके मुमो को दबा रहा था, पुरे रूम रूम मैं पच पच की आवाजे आवाजे आ रही थी.

३० मिंट के बाद हम दोनों जड़ गये,और मंजू और मैं बीएड पर लेट गए फिर मंजू ने अपना सर मेरे छाती पर रख लिआ, और हम दोनों साथ मैं सो गए फिर हमारी आंख ५ पं पर खुली, मैंने मंजू के माथे पर किस किआ, और हम खड़े हो गए.

मैं अपना बापस जाने के लिए तैयार होने लगा और मंजू नै बी कपडे डाल लिए, और फिर हमने किस किआ मंजू नै कहा मोहित आपसे मिलकर बहुत अच्छा लगा, आज मैं बहुत खुश हूँ, और उसने मुझे मेरे चार्जेज दिए, और साथ मैं टिप बी, और फिर मेरे को बस स्टैंड ड्राप कर दिआ.

दोस्तों मेरी स्टोरी अच्छी लगी हो तो प्लीज रपल्य कीजिए गए, आपका प्यारा दोस्त मोहित, मरी मेल आई डी है “[email protected]“.

What did you think of this story??

Comments

Scroll To Top